तुम पर गुस्सा भी आता है और प्यार भी . कैसे कह दूँ कि तुम मेरी कोई नहीं हो । मन करता है कि तुमसे बोलना छोड़ दूँ । ….. और बिन बतियाये रहा भी नहीं जाता ……… कैसे कह दूँ कि तुम मेरी कोई नहीं हो । तुमने बहुत जख्म दिये हैं । टीसते […]

Continue reading about ऐसा रंग गया हूँ तेरे रंग में ।